नर्स ने काम न करने को लेकर सीएचसी में काटा हंगामा,घंटो कार्य हुआ बाधित

RtvBharat24.

महोली-सीतापुर। कोविड-19 के टीकाकरण में लगी संविदा स्टाप नर्स ने काम न करने बात को लेकर सीएचसी में जमकर बवाल काटा। महिला के तेवर व आवाज इतनी अधिक थी कि सीएचसी का शांत माहौल शोरगुल से गूँजने लगा। नर्स ने प्रभारी पर ज्यादा काम लेने का आरोप लगाकर काम नही करने की बात कहकर कोविड टीकाकरण के लिऐ बनायी गये बैठक हाल में जमीन पर बैठकर शोर मचाया जाने लगा। जिससे तमाम मरीज असहज दिखे। नर्स का व्यवहार स्टाप के साथ अच्छा नही बताया जाता। इसको लेकर पहले भी नर्स को चेतावनी दी जा चुकी है। हंगामे की सूचना पाकर पहुँचे कोतवाली प्रभारी ने जब नर्स को समझाने का प्रयास किया तो वह उनसे उलझ गयी।
बुधवार को स्थानीय सीएचसी का माहौल उस समय बिगड़ गया जब संविदा पर काम करने वाली स्टाप नर्स ज्योति अवस्थी दिन रात ड्यूटी करने की बात कह कर जोर जोर से चिल्लाने लगी। नर्स रेनू अवस्थी ने आरोप लगाया कि हमारा प्लांन नही साइन किया जा रहा है और क्षेत्र में ड्यूटी लगायी जा रही है। नर्स ने प्रभारी पर धन माँगने तथा ग्रामीण क्षेत्र में भी ड्यूटी लगाने का आरोप लगाते हुऐ हंगामा काटा जाने लगा। सीएचसी के बिगडते माहौल की सूचना पर पहुंचे कोतवाल संजय पांडे ने जब महिला से अपनी बात उच्चाधिकारियों के पास ले जाने की कही तो नर्स उनसे भी उलझ गयी।
दूसरी तरफ सीएचसी प्रभारी डा इमरान अली का कहना है। आरोप लगा रही नर्स की ड्यूसी प्रसूता कक्ष में थी जहा आये दिन धन वसूली की शिकायते मिलती थी। बीते 16 अप्रैल को एक प्रसूता से अवैध वसूली को लेकर ड्यूटी पर तैनात नर्स रंजना शुक्ला से विवाद भी हुआ था जिसकी लिखित शिकायत रंजना ने की थी। तमाम शिकायतो के बाद ज्योति को चेतावनी पत्र देकर प्रसव कक्ष से हटाकर ड्यूटी कोविड-19 वैक्सीनिशेन में लगा दी गयी थी। प्रसव कक्ष से हटने के बाद ज्योति का स्टाप से उलझना शगल बन गया था।

*प्रसव कक्ष से हटने से बंद हुई कमाई से तमतमायी नर्स काटा हंगामा*

कोविड-19 में चल रही ड्यूटी और बंद हुई कमाई अशान्ति का माहौल पैदा कर गया। बुधवार को ड्यूटी न करने की चीख चिल्लाने की आवाजे सीएचसी में आने लगी। संविदा पर तैनात स्टाप नर्स जयोति अवस्थी ड्यूटी न करने की बात करते हुऐ लगातार बयान बदलते हुऐ आरोप लगा रही थी। कहीं इसके पीछे प्रसव कक्ष में होने वाली अवैध वसूली पर लगी लगाम तो कारण नही बन गयी। साथ ही नर्स का मनोरोगी पति जो 108 एंबुलेंस का चालक है उसने भी पत्नी ज्योति का समर्थन कर आरोप लगाये। यह यह भी बड़ा सवाल है एक मनोरोगी 108 का चालक कैसे है। यह बात हम नही कह रहे जब पत्रकारो ने सवाल किये तो आरोप लगाने वाली नर्स ज्योति ने खुद बयान किये।

*संविदा समाप्त करने की गयी संस्तुति*

सीतापुर। लगातार स्टाप के साथ विवादो मे रहने वाली हंगामा खड़ा कर अभ्रद व्यवहार कर ड्यूटी न करने की बात कहने वाली संविदा स्टाप नर्स ज्योति अवस्थी की कार्य शैली को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डा इमरान अली ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पत्र भेजकर संविदा समाप्त करने की सिफारिश की है। पत्र में कहा गया है नर्स का कार्य असंतोषजनक है जिससे टीम प्रबंधन व अन्य कर्मचारियों से काम लेना संभव नही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: